कभी पंक्चर बनाने का करते थे काम,फिर ऐसे बन गए IAS ऑफिसर,इस अफसर की कहानी आपके अंदर जोश भर देगी

New Delhi: आज हम आपको एक ऐसी कहानी बता रहे हैं जिसे जानकर हर युवा के मन में जोश भर जाएगा। ये कहानी ह..

New Delhi: आज हम आपको एक ऐसी कहानी बता रहे हैं जिसे जानकर हर युवा के मन में जोश भर जाएगा। ये कहानी है IAS ऑफिसर वरुण बरनवाल की। एक वक्त था जब वरुण साइकिल की दुकान पर पंक्चर बनाने का काम करते थे। वरुण की जिंदगी में एक वक्त ऐसा भी आया जब वह गरीबी की वजह से पढ़ाई तक छोड़ने वाले थे। लेकिन परिवार के साथ की वजह से आज वरुण जिस मुकाम पर हैं वो हर किसी के लिए एक मिसाल है।

वरुण महाराष्ट्र के एक छोटे से शहर बोइसार के रहने वाले हैं, जिन्होंने 2013 में हुई यूपीएससी की परीक्षा में 32वां स्थान हासिल किया था। इनकी कहानी आम कहानी जैसी नहीं है। वरुण ने बताया कि- उनकी जिंदगी ने इस मुकाम तक पहुंचने के लिए कई मोड़ लिए। बचपन गरीबी में बीता। पढ़ने का मन था लेकिन पढ़ाई के लिए पैसे नहीं थे। 10वीं की पढ़ाई करने के बाद मन बना लिया था अब साइकिल की दुकान पर काम ही करूंगा। ऐसा इसलिए क्योंकि आगे की पढ़ाई के लिए पैसे नहीं थे। किस्मत को कुछ और ही मंजूर था।

मैंने साल 2006 में दसवीं की परीक्षा दी थी। परीक्षा खत्म होते ही पिता का स्वर्गवास हो गया। इसके बाद मैंने पढ़ाई छोड़ने की ठान ली थी, लेकिन मां ने समझाया और प्यार से कहा कि- हम सब कर लेंगे तुम बस पढ़ाई करो। जब 10वीं का रिजल्ट आया मैंने स्कूल में टॉप किया था। 11वीं-12वीं मेरे जीवन के सबसे कठिन साल रहे हैं। मैं रोज सुबह 6 बजे उठकर स्कूल जाता था। इसके बाद मैं 2 से रात 10 बजे तक ट्यूशन क्लास लेता था और उसके बाद दुकान पर हिसाब करता था।

वरुण खुद को बड़ा किस्मत वाला मानते हैं। वरुण का कहना है कि पढ़ाई पूरी करने के लिए खुद से एक रुपया भी खर्च नहीं किया है। हमेशा कोई न कोई किताबों, फॉर्म, फीस भर दिया करता था। मैं हमेशा से ही क्लास में टॉप करता था। मैंने इंजीनियरिंग पूरी की। मेरी प्लेसमेंट तो काफी अच्छी हो गई थी। काफी कंपनी के नौकरी के ऑफर मेरे पास थे, लेकिन जब तक सिविल सर्विसेज परीक्षा देने का मन बना लिया था। लेकिन ये समझ नहीं आ रहा था कि आखिर तैयारी कैसे करें।

सिविल सर्विसेस एग्जाम की तैयारी करने में भाई ने मदद की। जब यूपीएससी प्रिलिम्स का रिजल्ट आया तो ‘मैंने भइया से पूछा कि मेरी रैंक कितनी आई है- जिसके बाद उन्होंने कहा 32… ये सुनकर वरुण की आंखों में आंसू आ गए हैं। उन्हें यकीन था अगर मेहनत और लगन सच्ची हो बिना पैसों के भी आप दुनिया का हर मुकाम हासिल कर सकते हैं। इस तरह वरुण की मेहनत रंग लाए और आज के वक्त में वरुण IAS ऑफिसर हैं।

The post कभी पंक्चर बनाने का करते थे काम,फिर ऐसे बन गए IAS ऑफिसर,इस अफसर की कहानी आपके अंदर जोश भर देगी appeared first on Live India Online.

The post कभी पंक्चर बनाने का करते थे काम,फिर ऐसे बन गए IAS ऑफिसर,इस अफसर की कहानी आपके अंदर जोश भर देगी appeared first on Live India.

In the news
post-image
Bihar News

सुशील मोदी ने तेजस्वी से किया सवाल, क्या बेनामी संपत्ति रखना,सरकारी पैसे से विलास करना नयी सोच?

Patna: भाजपा के वरिष्ठ नेता सह बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने एक बार फिर से तेजस्वी यादव पर जमकर हमला बोला है। इस बार उन्होंने सरकारी बंगले...
post-image
Bihar News

मांझी ने कांग्रेस पर लगाया आरोप, कहा-महागठबंधन में कांग्रेस के कारण आ रही दिक्कत

Patna: बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा (हम) के अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने राजेंद्र इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (रिम्स) में भर्ती चारा घोटाला के सजायाफ्ता राजद...
post-image
Bihar News

शाहनवाज हुसैन ने पाकिस्तान पर साधा निशाना, कहा-खून पीने वालों को पानी की जरूरत नहीं

Patna: पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के फायर ब्रांड नेता शाहनवाज हुसैन ने पुलवामा हमले को लेकर एक बार फिर से पाकिस्तान पर निशाना साधा है। मुजफ्फरपुर पहुंचे बीजेपी...
post-image
Bihar News

फरवरी महीने में आसमान से बरस रहा कहर, पटना में पारा पहुंचा 31.4 डिग्री पर

Patna: बिहार की राजधानी पटना का मौसम फरवरी में ही गर्मी वाला हो गया है। जहां तेज धूप के कारण स्वेटर से तौवा कर शर्ट और टी-शर्ट निकल आई...
post-image
Bihar News

बिहार में ट्रैक्टर और गाड़ी में हुई टक्कर, गुस्साए गाड़ी सवार लोगों ने ट्रैक्टर चालक को जिं’दा जलाया

Patna: बिहार में शनिवार की सुबह एनएच-28 पर ट्रैक्टर और फॉर्च्यूनर गाड़ी की टक्कर हो गयी। जिसके बाद गुस्साए फॉर्च्यूनर सवार लोगों ने ट्रैक्टर चालक को ट्रैक्टर सहित जिं’दा...
Load More