Yes I’M Bihari
मनोरंजन

बिहार के ये रियल लाइफ़ IAS अफ़सर बड़े परदे पर निभाने जा रहा है शानदार किरदार

sponsored Advt by- Addon

‘सिंघम’, ‘गंगाजल’, हालिया रिलीज़ ‘सिंबा’ जैसी फ़िल्मों में आपने बॉलीवुड के सुपरस्टार्स को कई बार पुलिस ऑफ़िसर के किरदार निभाते देखा ही है। लेकिन ये तो होते हैं एक्टर्स इनका काम ही एक्टिंग करना होता है। फिर चाहे रोल पुलिस ऑफ़िसर का हो या चोर का। लेकिन क्या कभी आपने किसी पुलिस ऑफिसर को देखा है एक्टिंग करते हुए?

sponsored Advt by- Addon

ज़ाहिर सी बात है पुलिस वाले का नाम आते ही पुलिस की वर्दी, रौब, कानून व्यवस्था संभालते अधिकारी, लोगों की समस्याओं को सुलझाते हुए अधिकारी याद आते हैं। पुलिस ऑफ़िसर को एक्टिंग करते देखने का सोचा भी नहीं जा सकता। लेकिन बिहार के खगड़िया में एक ऐसे पुलिस ऑफ़िसर हैं, जो अपनी ड्यूटी निभाने के साथ ही अपने शौक को भी पूरा कर रहे हैं।

जी हां, इस पुलिस ऑफ़िसर का नाम है अनिरुद्ध कुमार, जो अपनी ड्यूटी के साथ अपना एक्टिंग का शौक भी पूरा कर रहे हैं। अनिरुद्ध बिहार के खगड़िया के डीएम हैं। जल्द ही अनिरुद्ध  एक भोजपुरी फ़िल्म में धमाल मचाने वाले हैं। अपनी कॉमेडी से वो दर्शकों को जमकर हंसाने वाले हैं।

अनिरुद्द जिस फ़िल्म में काम कर रहे हैं वो भोजपुरी और तेलुगू भाषा में रिलीज़ होगी। फ़िल्म का नाम है ‘वायरस’, जिसका निर्देशन अंगद ओझा ने किया है। इस फ़िल्म में अनिरुद्ध अपनी स्टैंडअप कॉमेडी से दर्शकों को खूब हंसाने वाले हैं। फ़िल्म की शूटिंग हैदराबाद में हुई है। अनिरुद्ध ने अपने किरदार की शूटिंग महज़ 7 दिन में ही पूरी कर ली थी।

अनिरुद्ध को बचपन से ही एक्टिंग का शौक रहा है। वो 8 साल की उम्र से ही अभिनय कर रहे हैं। अनिरुद्ध शुरू से ही गांव में थिएटर किया करते थे। अनिरुद्द इससे पहले साल 2012 में एक भोजपुरी फ़िल्म ‘मुंबइया लड़की, देसी बबुआ’ में भी काम कर चुके हैं।

फ़िल्म ‘वायरस’ के लिए अनिरुद्ध ने पहले ऑडीशन दिया था। ऑडीशन में सिलेक्ट होने के बाद उन्हें लीड एक्टर के पिता और गांव के मुखिया का रोल मिला। फ़िल्म में अनिरुद्ध एक ऐसे व्यक्ति का किरदार निभाएंगे, जो पंचायत में तो शेर बना रहता है, लेकिन घर में पत्नी के सामने डरा सहमा सा रहता है। अनिरुद्ध के अलावा फ़िल्म में एक्ट्रेस सनी सिंह और सिंगर आशी तिवारी भी नज़र आएंगी।

 

खगड़िया के डीएम होने से पहले अनिरुद्ध बिहार सरकार में आपदा प्रबंधन विभाग में अपर सचिव के पद पर कार्यरत थे। इसके बाद 1984 में उन्होंने लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास की और प्रशासनिक सेवा में आए। काफ़ी समय के बाद साल 2016 में उन्हें आईएएस के रूप में प्रमोट कर खगड़िया का डीएम बनाया गया।

sponsored Advt by- Addon

Related posts

Leave a Comment