Yes I’M Bihari
India News

-30 डिग्री में देश की सुरक्षा में डटे रहती है सेना,बर्फ की आंधी भी इनके हौसले को डिगा नहीं पाती

sponsored Advt by- Addon

New Delhi: यहां माइनस 30 डिग्री टेम्परेचर में भी भारतीय सेना देश की सुरक्षा में डटी रहती है। पहाड़ों की ऊंचाई हो या फिर बर्फ की आंधी, थरीला रास्ता हो या फिर कोई तूफान, हर वक्त भारतीय सेना दुश्मनों को मुंहतोड़ जवाब देती है। भारतीय सेना मुश्किलों में सरहद की सुरक्षा के लिए मशहूर है।

sponsored Advt by- Addon

हमारे जवान कई इंटरनेशनल बॉर्डर भारी ठंड और बर्फबारी के बीच माइनस 30 डिग्री से ज्यादा टेम्परेचर में भी मुस्तैद रहते हैं।
सियाचिन में एक बार तापमान माइनस 60 डिग्री तक चला गया था, बावजूद भारतीय सेना के जवान वहां ड्यूटी करते रहे। यह पूर्वी काराकोरम रेंज में 5,753 मीटर की ऊंचाई पर जबकि, समुंद्र तल से 18 हजार 875 फीट की ऊंचाई पर है। यहां सर्दियों में औसत बर्फबारी 1000 सेमी से अधिक है और तापमान करीब माइनस 50 डिग्री तक चला जाता है।

यहां आर्मी के बेस कैंप तक पहुंचने का रास्ता लेह से शुरू होता है। ये रास्ता आसान नहीं है। लेह से सियाचिन बेस कैंप का रास्ता 230 किलोमीटर लंबा है, जो कि दुनिया के सबसे ऊंचे सड़क मार्ग खारदुंगला से होकर गुजरता है। सियाचिन की 45 से ज्यादा ऊंची चोटियों की निगरानी भारतीय सेना करती है। यहां ऑक्सीजन की भारी कमी होती है। फिर भी बर्फीले और जानलेवा हालात में सेना यहां मुस्तैदी से तैनात रहती है।

यह भारत के सबसे ठंडे इलाकों में से है और सर्दियों में यहां तापमान माइनस 45 डिग्री तक गिर जाता है। यहां माइनस 60 डिग्री तक तापमान मापा जा चुका है। जम्मू-कश्मीर का उड़ी सेक्टर बर्फबारी के लिए मशहूर यहां जीरो डिग्री से कम तापमान (जो माइनस 20 डिग्री तक जा सकता है) में सेना के जवान बॉर्डर की सुरक्षा करते हैं। बर्फबारी के दौरान यहां पहुंचना एक मुश्किल चुनौती है। अगर बर्फबारी के कारण रास्ते बंद हों तो यहां पहुंचने में आपको महीने भर भी लग सकते हैं।

The post -30 डिग्री में देश की सुरक्षा में डटे रहती है सेना,बर्फ की आंधी भी इनके हौसले को डिगा नहीं पाती appeared first on Live India Online.

The post -30 डिग्री में देश की सुरक्षा में डटे रहती है सेना,बर्फ की आंधी भी इनके हौसले को डिगा नहीं पाती appeared first on Live India.

sponsored Advt by- Addon

Related posts

Leave a Comment